दुनिया

जर्मनी में मोदी: PM का भारतीयों ने स्वागत किया, जर्मन दुल्हन ने पैर छूकर आशीर्वाद लिया और पूछा- केम छो

बर्लिनएक घंटा पहले

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी G-7 के 48वें शिखर सम्मेलन में शामिल होने के लिए जर्मनी के म्यूनिख में हैं। इस दौरान वहां मौजूद भारतीय समुदाय के लोगों ने उनका जोरदार स्वागत किया। इसी दौरान एक भारतीय से शादी करने वाली जर्मन लड़की ने पति के साथ मोदी के पैर छुए और आशीर्वाद लिया। इस लड़की ने प्रधानमंत्री से हिंदी में पूछा- आप कैसे हैं? फिर गुजराती में पूछा- केम छो (आप कैसे हैं)। मोदी इस अंदाज पर खुश नजर आए। उन्होंने इस लड़की से कहा- आपने हिंदी भी सीख ली।

जर्मनी के म्यूनिख एयरपोर्ट पर एक बवेरियन बैंड ने पीएम मोदी का स्वागत किया। इस दौरान जर्मनी का पारंपरिक संगीत गूंजता रहा।

मोदी ने म्यूनिख होटल में उनका स्वागत करने के लिए एकत्र हुए भारतीय प्रवासी सदस्यों के बीच बच्चों से भी घुल मिलकर बातचीत की।

मोदी ने म्यूनिख होटल में उनका स्वागत करने के लिए एकत्र हुए भारतीय प्रवासी सदस्यों के बीच बच्चों से भी घुल मिलकर बातचीत की।

म्यूनिख में भारतीय प्रवासीयों ने पीएम मोदी का गर्मजोशी से स्वागत किया। इस दौरान 'हर हर मोदी', 'मोदी जी का स्वागत है' के नारे लगाए गए।

म्यूनिख में भारतीय प्रवासीयों ने पीएम मोदी का गर्मजोशी से स्वागत किया। इस दौरान ‘हर हर मोदी’, ‘मोदी जी का स्वागत है’ के नारे लगाए गए।

26 से 28 जून तक चलेगा सम्मेलन
प्रधानमंत्री का ये दौरा दो दिन का होगा। मोदी 12 से ज्यादा राष्ट्राध्यक्षों के साथ मीटिंग करेंगे। 15 से अधिक कार्यक्रमों में हिस्सा लेंगे। शिखर सम्मेलन 26 से 28 जून तक चलेगा। इसके बाद वे संयुक्त अरब अमीरात (UAE) का भी दौरा करेंगे।

जलवायु, ऊर्जा, खाद्य सुरक्षा, स्वास्थ्य, लैंगिक समानता पर G7 शिखर सम्मेलन चर्चा में भाग लेने के अलावा मोदी कई द्विपक्षीय बैठक भी करेंगे।

जलवायु, ऊर्जा, खाद्य सुरक्षा, स्वास्थ्य, लैंगिक समानता पर G7 शिखर सम्मेलन चर्चा में भाग लेने के अलावा मोदी कई द्विपक्षीय बैठक भी करेंगे।

कम्यूनिटी प्रोग्राम में हिस्सा लेंगे मोदी
जर्मनी-यूएई की अपनी यात्रा से पहले मोदी ने कहा था- शिखर सम्मेलन में भाग लेने वाले देशों के नेताओं के साथ द्विपक्षीय बैठक हैं। इसके अलावा जर्मनी के म्यूनिख में एक कम्यूनिटी प्रोग्राम में भारतीय समुदाय के लोगों के साथ बातचीत होगी।

पीएम ने कहा था- मैं जर्मन प्रेसीडेंसी के तहत G-7 शिखर सम्मेलन के लिए जर्मनी के चांसलर ओलाफ शोल्ज के निमंत्रण पर जर्मनी के श्लॉस एल्मौ का दौरा करूंगा। जर्मनी के चांसलर से मिलकर खुशी होगी।

G-7 के दो सेशन में हिस्सा लेंगे PM
मोदी मुख्य रूप से G-7 के दो सेशन में हिस्सा लेंगे। पीएम ने बताया कि शिखर सम्मेलन में क्लाइमेट, एनर्जी, हेल्थ और फूड सिक्योरिटी एंड जेंडर इक्वालिटी है, जिसपर सबसे ज्यादा फोकस होगा। इसके अलावा यूक्रेन-रूस जंग, हिन्द प्रशांत क्षेत्र की स्थिति पर भारत के स्टैंड पर भी चर्चा होने की संभावना है।

समिट जिस होटल में, वह AC नहीं

समिट सुदूर दक्षिण में ऑस्ट्रिया की सीमा पर बावेरिया की वादियों में स्थित श्लॉस एल्माऊ पैलेस में होगी।

समिट सुदूर दक्षिण में ऑस्ट्रिया की सीमा पर बावेरिया की वादियों में स्थित श्लॉस एल्माऊ पैलेस में होगी।

जिस होटल में सम्मेलन होने वाला है, उसमें एयरकंडीशनर नहीं है। पैलेस में ईको फ्रेंडली कूलिंग सिस्टम है, जहां 8 डिग्री सेल्सियस तापमान मेंटेन किया जाता है। यह होटल 2015 में भी जी-7 की मेजबानी कर चुका है। मेजबानी के लिए 47 प्रेसिडेंशियल सुइट्स हैं, जो मुख्य होटल के इतर है। इसे रिट्रीट नाम दिया गया है। जर्मनी से 27 जून को पीएम UAE के लिए रवाना होंगे।

सात देशों का समूह है G-7
G-7 समूह दुनिया के सात सबसे अमीर देशों का समूह है, जिसकी अध्यक्षता अभी जर्मनी कर रहा है। इस समूह में ब्रिटेन, कनाडा, फ्रांस, जर्मनी, इटली, जापान और अमेरिका शामिल है। इसमें अर्जेंटीना, इंडोनेशिया, सेनेगल, दक्षिण अफ्रीका जैसे देशों को भी आमंत्रित किया गया है।

इस बैठक में अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन, ब्रिटिश प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन, फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रो, कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडू सहित कई अन्य शीर्ष नेता हिस्सा ले रहे हैं।

खबरें और भी हैं…

Source link

What's your reaction?

Excited
0
Happy
0
In Love
0
Not Sure
0
Silly
0

You may also like

Comments are closed.